गुरुकुल पत्रिका में शोध पत्रों के प्रकाशन हेतु कोई भी शुल्क देय नहीं है ।

Publication Policy

1. Access Policy

 मुद्रित गुरुकुल पत्रिका विश्वविद्यालय में निर्धारित शुल्क जमा करने पर प्राप्त की जा सकती है एवं इसकी मासिक व वार्षिक सदस्यता भी ली जा सकती है । पत्रिका के विभिन्न अंकों के पीडीएफ/ मुद्रित संस्करण वेबसाइट से सदस्यता लेने के पश्‍चात् डाउनलोड किये जा सकते हैं ।

2. Peer-Review policy

• गुरुकुल पत्रिका में शोधपत्र विधिवत मूल्याङ्कन कराने के पश्चात् ही प्रकाशित कराये जाते हैं। अतः विद्वान् लेखकों से अनुरोध है कि वे उन्ही मौलिक शोधपत्रों को इस पत्रिका में प्रकाशन हेतु प्रेषित करें, जो सब प्रकार से शोध की निर्धारित कसौटीयों पर भी खरे हों ।

• शोध निबन्ध मौलिक होना चाहिए किसी अन्य विद्वान् की पुस्तक अथवा निबन्ध की नकल करके शोधपत्र भेजना बौद्धिक अपराध तथा अपनी प्रतिभा का हनन है।

• गुरुकुल पत्रिका में केवल शोध निबन्ध ही प्रकाशित किए जाते हैं। अतः जिन शोध-पत्रों में शोध-प्रविधि का प्रयोग नहीं किया गया है, ऐसे लेखों को प्रकाशित करना सम्भव नहीं होगा ।

• किसी अन्य पत्रिका में पूर्व प्रकाशित निबन्ध को पुनः प्रकाशित करने के लिए भेजना निषिद्ध एवं अवैध कृत्य है । ऐसा कोई शोध लेख पाए जाने पर प्लैगरिज्म के नियमों के अंतर्गत कार्यवाही की जा सकती है ।

Referred

प्राप्त शोधपत्रों को बाह्य परीक्षकों के पास मूल्याङ्कन हेतु प्रेषित किया जाता है तथा उनके द्वारा मूल्यांकित/ निर्दिष्ट संशोधनों के आधार पर ही प्रकाशनार्थ स्वीकार किया जाता है।

Ethical and Licensing Policy

लेखक द्वारा  प्रेषित किये गए शोध-पत्र की प्रकाशन प्रक्रिया प्रारम्भ करने से पूर्व लेखक को एक शपथ/घोषणा-पत्र देना अनिवार्य है जिसके अंतर्गत यह उल्लेखित होता है कि यह लेखक का अपना स्वयं का मौलिक कार्य है। इसमें दी गई सामग्री के प्रति मेरा पूर्ण उत्तरदायित्व है। यह शोध पत्र अन्यत्र प्रकाशनार्थ नहीं भेजा गया है। शोध पत्र से संबन्धित भविष्य में किसी प्रकार के होने वाले वाद-विवाद के लिए मैं पूरी तरह जिम्मेदार हूँ। साथ ही लेखक द्वारा अपना दूरभाष न॰, ई-मेल तथा पत्र व्यवहार का पूर्ण पता लिखा जाना अनिवार्य है।

शपथ/घोषणा-पत्र का प्रारूप वेबसाइट के डाऊनलोड सेक्शन से डाउनलोड किया जा सकता है ।