• गुरुकुल पत्रिका (ISSN- 0976-8017) गुरुकुल काँगड़ी समविश्वविद्यालय की त्रैमासिक शोध-पत्रिका है, जो लगभग छः दशकों से भारतीय ज्ञान से मनीषियों एवं प्रबुद्ध जनों को आप्लावित कर रही है।

• गुरुकुल-पत्रिका दर्शन, वेद, संस्कृत एवं प्राचीन ऋषि मुनियों की गुरुकुल शिक्षा व्यवस्था को पोषित, सरंक्षित करने के लिए कृतसंकल्पित है।

• इसके अंतर्गत प्रमुख रूप से वैदिक एवं लौकिक साहित्य एवं संस्कृति , धर्म, दर्शन, प्राचीन भारतीय इतिहास, योग, आयुर्वेद, ज्योतिष, मनोविज्ञान, हिंदी-साहित्य, सामयिक सामाजिक अध्ययन तथा अन्य प्राच्य-विद्या से सम्बन्धित शोधपरक लेखों का प्रकाशन किया जाता है।

• प्राच्य-विद्या, पुरातन ज्ञान-विज्ञान, भारतीय सांस्कृतिक तत्त्वों एवं साहित्य में निहित जीवन सूत्रों, मानविकी के मूल तत्त्वों एवं वैदिक विज्ञान को शोध लेखन के माध्यम से प्रोत्साहित एवं सरंक्षित करना भी इस गुरुकुल पत्रिका का मुख्य उद्देश्य है।

• दार्ज्ञाशनिक विज्ञान में नवीन अनुसन्धानों हेतु युवा शोधार्थियों को भी प्रोत्साहित करने के लिए यह पत्रिका समर्पित है।